Latest Dard Bhari Shayari 2021 | Shayari pro

Dard Bhari Shayari

Dard Bhari Shayari : Hello My Friends Today, We Found A Lot Of Dard Bhari Shayari for you guys this is 100 % Unique and rare, it is very Dard Bhari Shayari, we founded this Dard Bhari Shayari from U.P ,Ludhiana, And Delhi, And Type for you guys, You can share this Dard Bhari Shayari for your friend and use it for your whatsapp dp, And we have lot off shayari like Sad Shayari, Love Shayari, 2 line shayari, sad shayari image much more,

Dard Bhari Shayari

दर्द भरी शायरी

1) 💔  💔

दिल भी रोया आँख भी रोइ तेरे चले जाने के बाद ।

चैन तू भी न पायेगी मुझको ठुकराने के बाद ।

हमने चाहा तुम्हे और की इबादत खुदा से बढ़कर ।

न चाहेगा कोई तम्हे इतना इस ” दीवाने ” के बाद ।

2) 💔  💔

फरेब मुहब्बत में खाया है हमने ।

मर क्र भी प्यार निभाया है हमने ।

न हुई उनसे मुहब्बत में वफ़ाएं ।

दस्तूर ‘ ऐ ‘ वफ़ा बहुत सिखाया है हमने ।

3)  

हमसे दिल किसी और से लगाया न जायेगा ।

प्यार तेरा दिल से अब भुलाया न जायेगा ।

खुद ही निकल पड़ते है आंसू याद में ।

रोती आँखों को  हमसे चुप क्यारा न जायेगा ।

4) 💔  💔

हसीन चेहरों पर कभी एतबार न करना ।

तोड़ देते है दिल कभी प्यार न करना ।

” है गुजारिश दोस्तों से ” मेरी हाथ जोड़ कर ।

मर जाओगे , वो न आएंगें इंतजार न करना ।

5)  

जाकर महफिलों में तुम शमाओं से पूछिए ‘

जला डाले उनहोंने अब तक परवाने कितने ।

मत   पूछिये   वेवफा   हसीनों   से   दोस्तों ,

की बनाएं हैं इन्होने आशिक ‘ दीवाने ‘ कितने ।

dard bhari shayari

Dard Bhari Shayari

6) 💔  💔

छुपाने वाले बड़े से बड़े राज छुपा लेते हैं ।

झुकाने वाले यू तो दुनियां को झुका देते हैं ।

मगर अच्छे इंसान वही होते हैं दोस्तों ।

जो दुसरो के गम को भी अपना लेते है ।

7) 💔  💔

जहर को हम अमृत समजकर पि रहे  हैं ।

मरकर भी हम उसके लिये जी रहे हैं ।

तो क्या हुआ हो चुके हैं दफन तुरबत में ।

यारों कभी तुम्हारी तरह आशिक हम भी रहे हैं ।

8) 💔  💔

कबूल हमें अँधेरे हैं तुम्हें रोशनी मुबारक ।

हमें मौत  ने आ घेरा हैं तुम्हें जिंदगी मुबारक ।

खुद ही गम देकर जताते हो हमदर्दी किस लिए ।

सनम ” मेरे गम मेरे हैं ” तुम्हें ख़ुशी मुबारक ।

9)

न शिकवा करते हैं न शिकायत करते हैं  ।

क्योंकि हम तो गमों से मुहब्बत करते हैं ।

ख़ुशी तो दो चार पल की मेहमान हैं होती ।

गम ही साथ रहने की हसरत करते है ।

10)  

उनकी बेबसी बन गई अब बेवफाई यारो ।

दीवाना की तकदीर भी हो गई हरजाई यारो ।

हर किसी को वफ़ा के बदले मिली जफ़ाएं ।

मगर हमें वफ़ा के बदले मिली तन्हाई यारो ।

dard bhari shayari

Dard Bhari Shayari

11) 💔  💔

न आँधियों ने गिराया न तूफानों ने गिराया ,

करके जिसने बेघर मुझको वीरानों से मिलाया ।

वो कोई और नहीं तेरे ही दिल के देवता हैं ,

दीवाने को ये आकर सैकड़ों जबानों ने बताया ।

12) 💔  💔

अपनी वफ़ा के साथ – साथ ,

तेरी जफ़ा भी छुपाते रहे है ।

मत पूछिए अपने दिल पर ,

हम क्या – क्या सितमं   ढाते  रहे है ।

13) 💔  💔

गर लूटना सीखा है जमाने ने ।

तो लूटाना सीखा है रोहित   ने ।

गम लूटने का नहीं गम तो ये है ।

लुटा हमें हमारे मेहरबानों ने ।

14) 💔  💔

चेहरा अश्कों से भिगो लेता हूँ मैं ।

जब याद आए थोड़ा रो लेता हूँ मैं 

आप क्या करेंगे हमारे गम अपनाकर ।

आदत पद चुकी अकेला ढो लेता हूँ मैं ।

15) 💔  💔

हमारे घर के डीप बुझा अपने घर उजाले किये जा ।

देकर ग़मों का जहर हमें तू मौत के हवाले किये जा ।

मेरी न तू चिंता कर मैं तो ठहरा बदनसीब ” दीवाना ” ।

मुझको दुःख देकर तू खुद ख़ुशी के प्याले पिए जा ।

Dard Bhari Shayari

16) 💔  💔

मौत मिलती है सबको जिंदगी के बाद ।

अँधेरा मिलता है अक्सर रौशनी के बाद ।

तो क्या हुआ मुझको वो गम मिले पहले ।

जो मिलते हैं सबको ही ख़ुशी के बाद ।

17)

दुनियां में भला कौन है हम बेगानों का ।

जो था वो कर गया खून मेरे अरमानों का ।

ख़ुशी क्या है हमें न मालूम मेरे खुदा ।

ग़मों से है गहरा नाता हम दीवानों का ।

18) 💔  💔

रंजों गम इस कदर समय मुझमें ।

हर ख़ुशी से हमें नफरत हो गई है ।

जिंदगी से दुश्मनी हुई मेरी इतनी ।

मौत से मुझे मुहब्बत हो गई है ।

19) 💔  💔

एक पल में ही रूठ जाता है दिल ।

यू ही हाथों से छूट जाता है दिल ।

दीवानगी पे मत छोड़ो इसको तन्हा ।

शीशे की माफिक  टूट जाता है दिल ।

20) 💔  💔

क्यों  आप हमपे अहसान किये जाए हैं ।

हम तो बस यू ही जन्दगी जिए जाते हैं ।

न करों दुआ हमारी लम्बी उमर की तुम ।

हम तो जिंदगी को जहर समझ पये जाते हैं ।

Dard Bhari Shayari

21) 💔  💔

यकीन है अपने अपनों से खफा हो नहीं सकते ।

कभी खून के रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते ।

तुम भले भूलकर मुझको सो जाओ सनम ।

मगर हम तुम्हें याद किये बिना सो नहीं सकते ।

22) 💔  💔

ऐ खुदा किये औरों पे कर्म तूने ,

कभी हम पर भी करम करना ।

मेरे मन को थोड़ा सा सुकूं देना ,

भले ही आंखे मेरी नम करना ।

23) 💔  💔

किसी से वफ़ा किसी से बेवफाई ।

ऐ खुदा तूने कैसी मुहब्बत बनाई ।

जिसके साथ बितानी थी जिंदगी ।

वो दे गया उम्रभर की जुदाई ।

24) 💔  💔

मुहब्बत रोने मुसकुराने का नाम है ।

गैरों के गम अपनाने का नाम है ।

किसी के दिल को तोडना मुहब्बत नहीं ।

मुहब्बत तो मर मिट जाने का नाम है ।

25) 💔  💔

जिसका नाम दिल में लिखा है ,

उसी का जिक्र जुबान पे है ।

मैं  वो न जाने कहाँ पे है ,

और वो न जाने कहाँ पे है ।

dard bhari shayari

Dard Bhari Shayari

26) 💔  💔

ऐ खुदा यू तो सब करते हैं मुहब्बत यहाँ ।

जो मैंने भी की तो क्या गुनाह किया ।

मैं मानता हूँ कुछ मेरी भी है खता इसमें ,

जो एक बेवफा के पीछे जीवन तबाह किया  ।

27) 💔  💔

हमारी हर सौगात तुम अपना लिया करो ,

ठुकराकर दिल को यू तोडा नहीं करते हैं ।

तोड़कर रिश्ता अपने सच्चे आशिक से ।

जाकर बेगानों से रिश्ता जोड़ा नहीं करते हैं ।

28) 💔  💔

काश तेरे घर के सामने मेरा भी घर होता ।

गुफ्तगूं होती अपनी न की खतों में सफर होता ।

या तो तुम होते हमारे अम्बाला में सोनू ।

या फिर अमृतसर में दीवाने का घर होता ।

29) 💔  💔

जूनून मुहब्बत का मुझपे ऐसा हुआ सवार यारो ।

भूख प्यास सब मिट गई जबसे हुआ प्यार यारो ।

हवा के झोंके की तरह आते और जाते हैं वो ।

तमन्ना है एक बार जो भरके करें दीदार यारो ।

30) 💔  💔

हसरतें सारी मिट जाएँ तेरी ,

आरजू  ऐं दिल की जल जाएँ ।

तूने तन्हां छोड़ा जैसे ” दीवाने ” को ,

कोई तुझे भी छोड़ निकाल जाये ।

Dard Bhari Shayari

1 thought on “Latest Dard Bhari Shayari 2021 | Shayari pro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *